Breaking News

आंध्र प्रदेश के युवक ने बनाया दुनिया का सबसे छोटा वैक्यूम क्लीनर, गिनीज बुक में नाम दर्ज


वैक्यूम क्लीनर 1.7 सेंटीमीटर/0.7 इंच का है और उसे गिनीज़ के विश्व रिकॉर्ड में स्थान मिला है.

वैक्यूम क्लीनर 1.7 सेंटीमीटर/0.7 इंच का है और उसे गिनीज़ के विश्व रिकॉर्ड में स्थान मिला है.

Smallest Vacuum Cleaner: तपाला नदमुनि (Tapala Nadhmuni) ने न्यूज़18 से बातचीत में कहा, ‘मैंने यह वैक्यूम क्लीनर लॉकडाउन के दौरान बनाया और तब से मैं गिनीज़ बुक को आधिकारिक रूप से इसके बारे में बताने का प्रयास कर रहा था और अंततः मैं इसमें सफल रहा हूं.

हैदराबाद. कई बार कुछ चीजें अपने आकार के कारण दुनिया में चर्चित हो जाती हैं. आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के 21 साल के युवक तपाला नदमुनि ने ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है जिसके कारण दुनिया भर में उसकी चर्चा हो रही है. राज्य के चित्तूर ज़िले (Chittur District) के एक छोटे से गांव के इस युवक ने दुनिया का सबसे छोटा वैक्यूम क्लीनर (Smallest Vacuum Cleaner) बनाया है और इस वजह से उसका नाम गिनीज़ बुक (Guinness World Records) में दर्ज हो गया है. नदमुनि बचपन से प्रतिभाशाली है और वह कुछ न कुछ अनोखा काम करता रहता था और उसकी इसी प्रतिभा की वजह से उसे आंध्र प्रदेश के प्रतिष्ठित एनआईटी (राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान) में दाख़िला मिला.

इससे पहले जो सबसे छोटा वैक्यूम क्लीनर उसने बनाया था वह 2.2 सेंटीमीटर/0.9 इंच का था जिसमें 7 वोल्ट का डीसी मोटर लगा था, इस उपकरण को स्थिर करने के लिए पेन के ढक्कन का प्रयोग किया गया था, धूल को रोकने के लिए कपड़े की जाली, मोटर को स्थिर रखने के लिए इरेसर का प्रयोग हुआ था, प्रोपेलर के लिए धातु के शीट, नॉब के लिए सिरिंज और रबर टेप का प्रयोग उपकरण के विभिन्न हिस्सों को जोड़ने के लिए किया गया था ताकि बगल से इसमें बाहर से हवा प्रवेश नहीं करे. जब इस उपकरण को चलाया गया तो यह काग़ज़ के छोटे टुकड़ों को पकड़ने में सफल रहा था और 22 सितम्बर 2020 को इस बात की पुष्टि की गयी थी.

यह भी पढ़ें: 30-40 फुट की ऊंचाई से गिरते रसगुल्ले को मुंह से लपक लेते हैं अनुज, जानें पूरा मामला

अब नदमुनि में अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा है और जो नया वैक्यूम क्लीनर उसने बनाया है वह 1.7 सेंटीमीटर/0.7 इंच का है और उसे गिनीज़ के विश्व रिकॉर्ड में स्थान मिला है. तपाला नदमुनि ने न्यूज़18 से बातचीत में कहा, ‘मैंने यह वैक्यूम क्लीनर लॉकडाउन के दौरान बनाया और तब से मैं गिनीज़ बुक को आधिकारिक रूप से इसके बारे में बताने का प्रयास कर रहा था और अंततः मैं इसमें सफल रहा हूं. गिनीज़ रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराकर में बहुत खुश हूं. मेरे शिक्षक और मां-बाप ने इस सफलता को पाने में मेरी काफ़ी मदद की है’.

‘अपने बेटे की इस उपलब्धि पर हम खुश हैं. हमें नहीं पता कि गिनीज़ रिकॉर्ड क्या है पर हमारे गांव और गांव के बाहर के लोग हमें लगातार फ़ोन करके बधाई दे रहे हैं और बता रहे हैं कि हमारे बेटे ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है और हमें यह सुनकर अच्छा लगता है. अपने बचपन से ही वह इन चीजों में बहुत सक्रिय रहा है,’ तपाला नदमुनि के मां-बाप ने कहा.








Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *