Breaking News

आंध्र प्रदेश: घरवालों ने नहीं दिलाया 30 हजार का कुत्ता तो लड़के ने फांसी लगाकर दे दी जान


विशाखापट्टनम में 16 साल की लड़के ने फंदा लगा किया सुसाइड (सांकेतिक तस्वीर)

विशाखापट्टनम में 16 साल की लड़के ने फंदा लगा किया सुसाइड (सांकेतिक तस्वीर)

षणमुख ने ऑनलाइन एक कुत्ता देखा, जिसकी कीमत 30 हजार रुपये थी. षणमुख को कुत्ता बहुत पसंद आया और उसने अपने माता-पिता से उसे दिलाने की जिद की. हालांकि उसके परिजन इसके लिए तैयार नहीं हुए. इस बात से नाराज षणमुख ने फांसी लगाकर जान दे दी.

विशाखापट्टनम. बच्‍चों में कई बार किसी चीज को पाने की हसरत इस कदर हावी हो जाती है कि वो चीज न मिलने पर गुस्‍से में कई बार खतरनाक कदम तक उठा लेते हैं. ऐसा ही एक मामला आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विशाखापट्टनम (Visakhapatnam) में देखने को मिला. यहां पर 16 साल के एक लड़के ने इसलिए फांसी लगाकर जान दे दी क्‍योंकि उसके परिजनों ने उसे कुत्ता खरीदकर देने से मना कर दिया था. इस बात से नाराज लड़के ने सीलिंग फैन में फांसी का फंदा लटकाकर आत्‍महत्‍या (Suicide) कर ली.

जानकारी के मुताबिक विशाखपट्टनम के वेंकटेश्‍वरा मेट्टा इलाके में षणमुख वामसी (16) अपने परिवार के साथ रहा करता था. षणमुख ने ऑनलाइन एक कुत्ता देखा, जिसकी कीमत 30 हजार रुपये थी. षणमुख को कुत्ता बहुत पसंद आया और उसने अपने माता-पिता से उसे दिलाने की जिद की. हालांकि उसके परिजन इसके लिए तैयार नहीं हुए.

इसे भी पढ़ें :- Kisan Aandolan: जींद के खटकड़ टोल पर किसान ने जहर खाकर की आत्महत्याबता दें कि षणमुख की मां ने कुत्ता लाने से साफ इनकार कर दिया था. षणमुख की मां ने कहा था कि अगर वह कुछ वक्त ठहर जाएगा तो वह उसे कुत्ता दिला देंगी. हालांकि घरवालों के ऐसा कहने पर षणमुख वामसी नाराज हो गया. इसके बाद जब षणमुख की मां सोमवार को जरूरी घरेलू सामान खरीदने बाजार गई तो षणमुख वामसी ने फांसी से लटककर जान दे दी.

इसे भी पढ़ें :- प्रेमी ने कहा- सुशांत राजपूत आत्महत्या कर सकता है, तो तुम भी कर लो! युवती ने फंदा लगाकर दे दी जान

मां ने जब बेटे को फंदे से झूलता देखा तो वह बेहोश हो गईं. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने षणमुख वामसी को तत्काल अस्पताल पहुंचाया, जहां जांच के दौरान डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. एमआर पेट्टा थाने की पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया है और आगे जांच की जा रही है.









Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *