Breaking News

कोरोना से लड़ाई में पीएम मोदी का बाल मित्रो से आह्वान, दिया खास निर्देश


पीएम मोदी ने कहा कि आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है. (Pic- ANI)

पीएम मोदी ने कहा कि आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है. (Pic- ANI)

PM Narendra Modi address to Nation: पीएम ने कहा कि आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है, मैं राज्यों से कहूंगा कि वो लॉकडाउन से बचें और माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ही ध्यान केंद्रित करें.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार की रात राष्ट्र को संबोधित करते हुए कोरोना के खिलाफ जंग में बाल मित्रो से खास आह्वान किया. पीएम ने कहा कि “मेरा आह्वान है कि देशवासी आगे आए और एक दूसरे की मदद करें. मेरा युवा साथियों से अनुरोध है कि वे अपनी सोसायटी में छोटी-छोटी कमेटियां बनाकर कोविड अनुशासन का पालन करने में मदद करें. इससे लॉकडाउन की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी. स्वच्छता कार्यक्रम के समय मेरे बाल मित्रों ने बहुत मदद की थी. आज मैं एक बार फिर अपने बाल मित्रों से कहना चाहता हूं कि घर में ऐसा माहौल बनाइए कि बिना कारण घर के बाहर ना निकले. प्रचार माध्यमों से भी मेरी प्रार्थना है कि लोगों को जागरूक करने के लिए और भी प्रयास करें और प्रयास करें कि डर का माहौल कम हो सके.”

इससे पहले प्रधानमंत्री ने कहा कि “बढ़ते संक्रमण के चलते अस्पतालों में ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ी है. सरकार इस मसले पर काम कर रही है. राज्य सरकार, प्राइवेट सेक्टर सब मिलकर सरकार के साथ लगे हुए हैं. इंडस्ट्री के लिए ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में तब्दील किया जा रहा है. फॉर्मा सेक्टर ने दवाइयों का उत्पादन बढ़ा दिया है और इसे तेज किया जा रहा है. मेरी देश की फॉर्मा इंडस्ट्री के बड़े लोगों से बात हुई है. प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए दवाई कंपनियों की मदद ली जा रही है. हम सौभाग्यशाली है कि हमारे देश के पास इतना बड़ा और मजबूत फॉर्मा सेक्टर है, जो तेजी से दवाइयां बनाता है. अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने का काम चल रहा है. कुछ शहरों में डिमांड को देखते हुए कोविड अस्पताल बनाए जा रहे हैं.”

सबसे बड़ा टीका अभियान
उन्होंने कहा कि “पिछले साल देश में कोरोना के कुछ ही मरीज सामने आए थे, भारत ने वैक्सीन के लिए प्रयास शुरू कर दिया था. आज दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन हमारे पास है. इस प्रयास में हमारे प्राइवेट सेक्टर ने इनोवेशन और एंटरप्राइज की भावना का बेहतरीन प्रदर्शन किया. वैक्सीन को मंजूरी और रेगुलेशन पर टीम एफर्ट दिखाते हुए दो वैक्सीन के जरिए दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है. हमारा जोर है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक वैक्सीन पहुंचे. दुनिया के मुकाबले में भारत में तेजी के साथ टीकाकरण चल रहा है. हमारे स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंटलाइन कर्मचारी और वरिष्ठ नागरिकों को वैक्सीन का लाभ मिल चुका है.”1 मई से 18 वर्ष के ऊपर के लोगों को टीका

प्रधानमंत्री ने कहा, “सोमवार को ही हमने वैक्सीन को लेकर अहम फैसला किया है. 1 मई से 18 वर्ष के ऊपर के किसी भी व्यक्ति को टीका लग सकेगा. देश में बनने वाली वैक्सीन का आधा हिस्सा राज्यों और अस्पतालों को मिलेगा. इसके साथ ही पहले से चल रहा अभियान जारी रहेगा. पहले की तरह ही सरकारी अस्पतालों में मुफ्त वैक्सीन लगती रहेगी. हम सभी का प्रयास जीवन बचाने के लिए है. प्रयास ये भी है कि आर्थिक गतिविधियां और आजीविका कम से कम प्रभावित हो. टीकाकरण को 18 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए खोलने से शहरों में कामगारों को तेजी से टीका लगेगा. मेरा राज्य प्रशासन से आग्रह है कि वो श्रमिकों का भरोसा जगाए रखे. वो आग्रह करें कि वो जहां हैं वहीं रहें. ये बहुत मदद करेगा. अगले कुछ दिनों में वैक्सीन भी लगेगी और काम भी मिलेगा.”

पीएम ने कहा कि “पिछले साल की परिस्थितियां इस साल के मुकाबले अलग थीं. याद करिए कि कोरोना टेस्ट के लिए कोई लैब नहीं, पीपीई किट का प्रोडक्शन नहीं, बीमारी के बारे में जानकारी नहीं, लेकिन हमने तेजी से सुधार किया. आज हमारे डॉक्टरों ने कोरोना का इलाज संभव किया है. पीपीई किट, लैब, टेस्टिंग की सुविधा के साथ हम ज्यादा तैयार हैं. देश ने बहुत मजबूती और धैर्य से लड़ाई लड़ी है. इसका श्रेय आप सभी को जाता है.”

‘देश को लॉकडाउन से बचाना’
उन्होंने कहा, “आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है, मैं राज्यों से कहूंगा कि वो लॉकडाउन से बचें और माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ही ध्यान केंद्रित करें. अर्थव्यवस्था की सेहत सुधारने के साथ लोगों की सेहत का भी ध्यान रखें. कल रामनवमी है और मर्यादा पुरुषोत्तम की संदेश है कि हम मर्यादाओं का पालन करें. कोरोना से बचने के उपायों को शत प्रतिशत पालन करें. ये महीना रमजान का है, रमजान हमें अनुशासन की सीख देता है. जब जरूरी हो तभी बाहर निकलें. कोविड अनुशासन का पूरा पालन करें. मैं आपको भरोसा देता हूं कि आपके साहस, धैर्य और अनुशासन से जुड़कर उन्हें बदलने में देश में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा.”









Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *