Breaking News

फोटो से छेड़छाड़ कर बच्चियों को करता था ब्‍लैकमेल, पुलिस ने पहुंचाया सलाखों के पीछे


दिल्‍ली पुलिस ने प्राइवेट कंपनी के इवेंट मैनेजर को गिरफ्तार किया है.

दिल्‍ली पुलिस ने प्राइवेट कंपनी के इवेंट मैनेजर को गिरफ्तार किया है.

आरोपी पहले उनसे दोस्ती करता था फिर सोशल मीडिया (Social Media) पर उनकी फोटो में छेड़छाड़ कर फेक प्रोफाइल बना कर उनकी न्यूड फोटो अपलोड करता था. इसके बाद उसे सोशल मीडिया पर सार्वजनिक करने की धमकी देकर बच्चियों के साथ गलत काम किया करता था.

नई दिल्‍ली. दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) ने एक प्राइवेट कंपनी के इवेंट मैनेजर (Events Manager) को बच्चियों को ब्‍लैकमेल कर सेक्‍सुअल फेवर की डिमांग करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. आरोपी दिल्ली-एनसीआर में प्राइवेट स्कूल (Private school) की स्टूडेंट्स को अपना शिकार बनाता था. आरोपी की पहचान 25 वर्षीय भरत खट्टर के रूप में हुई है. आरोपी के निशाने पर ज्‍यादातर 7वीं और 8वीं क्‍लास की छात्राएं रहती थीं. आरोपी पहले उनसे दोस्ती करता था फिर सोशल मीडिया (Social Media) पर उनकी फोटो में छेड़छाड़ कर फेक प्रोफाइल बना कर उनकी न्यूड फोटो अपलोड करता था. इसके बाद उसे सोशल मीडिया पर सार्वजनिक करने की धमकी देकर बच्चियों के साथ गलत काम किया करता था.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक फेक प्रोफाइल बनाने के बाद वह लड़कियों की फोटो डिलीट करने के बदले सेक्‍सुअल फेवर जैसे वीडियो की मांग करता था. बच्चियों की उम्र क्‍योंकि काफी कम हुआ करती थी इसलिए वह इसकी शिकायत पुलिस से भी नहीं कर पाती थीं. पुलिस ने अब तक 7 बच्चियों की पहचान की है जिसे आरोपी अपना शिकार बना चुका है. इन बच्चियों ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.

डीसीपी (साउथ) अतुल ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने खट्टर को उसकी इंटरनेट एक्टिविटी और सोशल मीडिया के जरिये मिलने वाली सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया है. दरअलस इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब साउथ दिल्ली की एक महिला ने कोटला मुबारक पुलिस स्टेशन में अपनी नाबालिग बेटी की फेक इंस्टाग्राम आईडी बने होने की शिकायत दर्ज कराई. महिला ने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी की फेक आईडी पर अश्लील संदेश और फोटो भी भेजे जा रहे हैं.इसे भी पढ़ें :- ‘स्पेशल 26’ की तर्ज पर करते थे लूट, 6 गिरफ्तार, आरोपियों में तीन इंजीनियर
पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज
महिला की शिकायत के बाद एसीपी विजय विधूड़ी और इंस्पेक्टर अजीत कुमार के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई. इसके बाद आरोपी से लड़की बनकर बातचीत की गई. आरोपी ने जब लड़की से मिलने की बात की तो मौके से उसे पकड़ लिया गया. पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धाराओं समेत पॉक्सो एक्ट के तहत भी केस दर्ज किया है.









Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *