Breaking News

बिना मास्क के बना रहे थे फिल्म का सेट, कोविड-19 प्रोटोकॉल तोड़ने पर महाराष्ट्र में केस दर्ज


इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. (फाइल फोटो)

इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के पालघर (Palghar) जिले में फिल्म का सेट तैयार करने के दौरान कोविड-19 निर्देशों का पालन नहीं करने पर मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस ने फिल्म की शूटिंग से जुड़े कुछ लोगों के खिलाफ कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने का मामला दर्ज किया है.

मुंबई. देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है. इसके बाद देश में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिशें की जा रही हैं. कोरोना वायरस के दूसरे वेब ने कुछ राज्यों में कहर ढा दिया है. इनमें महाराष्ट्र सबसे अधिक प्रभावित राज्य है. वायरस के दूसरे वेब ने फिल्म निर्माण को प्रभावित करना शुरू कर दिया है. बॉलीवुड के अनेक कलाकार कोरोना वायरस से ग्रस्त हो चुके हैं. इसके बाद भी कुछ लोग कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं.

महाराष्ट्र के पालघर (Palghar) जिले में फिल्म का सेट तैयार करने के दौरान कोविड-19 निर्देशों का पालन नहीं करने पर मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस ने फिल्म की शूटिंग से जुड़े कुछ लोगों के खिलाफ कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने का मामला दर्ज किया है. एक पुलिस अधिकारी ने शनिवार को बताया कि गुरुवार को इस मामले दर्ज किया गया.

अधिकारी ने बताया कि पालघर में वसई के सनसिटी ग्राउंड में 24 मार्च को फिल्म का सेट तैयार करने का काम चल रहा था. उस वक्त वहां सैकड़ों लोग काम कर रहे थे. पुलिस की टीम जब वहां पहुंची तो एक भी कामगार मास्क लगाए हुए नहीं मिला और ना ही उचित दूरी के नियमों का पालन हो रहा था.

मीरा भयंदर-वसई विरार पुलिस आयुक्त कार्यालय के तहत माणिकपुर थाने के अधिकारी ने बताया, ‘फिल्म का सेट तैयार करने से जुड़ी टीम के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 (लोकसेवक के आदेश की अवज्ञा), 269 (जानलेवा बीमारी के संक्रमण को फैलाने के लिए लापरवाही भरा कृत्य) के तहत मामला दर्ज किया गया.’उन्होंने बताया कि इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. पुलिस ने इस संबंध में और जानकारी नहीं दी कि किस फिल्म के लिए सेट तैयार किया जा रहा था. महामारी शुरू होने के बाद से महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोविड-19 के सबसे ज्यादा 47,287 मामले सामने आए.

(भाषा के इनपुट के साथ)









Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *