Breaking News

Rahul Gandhi said Mark my words Govt cowardice will lead to tragic consequences in future


राहुल गांधी (फ़ाइल फोटो)

राहुल गांधी (फ़ाइल फोटो)

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि चीन ने भारत को डराने के लिए अपनी पारंपरिक और साइबर सेना जुटाई है. भारत सरकार उसके आगे झुक गई है.

नई द‍िल्‍ली : मुंबई में पिछले साल अक्टूबर में हुए पावर ग्रिड फेड (Mumbai Power Outage) के चीनी हैकरों (Chinese Hackers) के साजिशन साइबर अटैक को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार पर सवाल उठाए हैं. इसके साथ ही राहुल ने चीन के साथ-साथ सरकार पर सवाल उठाते हुए दावा किया है कि डेपसांग में हमारी जमीन चली गई है और दौलत बेग ओल्‍डी (डीबीओ) असुरक्षित है.

कांग्रेस नेता ने एक ट्वीट के जरिये कहा कि चीन ने भारत को डराने के लिए अपनी पारंपरिक और साइबर सेना जुटाई है. भारत सरकार उसके आगे झुक गई है.

उन्‍होंने आगे कहा, मेरी बात लिख लीजिए. डेपसांग में हमारी जमीन चली गई है और दौलत बेग ओल्‍डी (डीबीओ) असुरक्षित है. भारत सरकार का यह रवैया भविष्य में दुखद परिणाम देगा.

दरअसल, अमेरिका की एक कंपनी ने अपने हालिया अध्ययन में दावा किया है कि भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव के दौरान चीनी सरकार से जुड़े हैकरों के एक समूह ने ‘‘मालवेयर’’ के जरिए भारत के पावरग्रिड सिस्टम को निशाना बनाया. आशंका है कि पिछले साल मुंबई में बड़े स्तर पर बिजली आपूर्ति ठप होने के पीछे शायद यही मुख्य कारण था. अमेरिका में मैसाचुसेट्स की कंपनी ‘रिकॉर्डेड फ्यूचर’ ने अपनी हालिया रिपोर्ट में चीन के समूह ‘रेड इको’ द्वारा भारतीय ऊर्जा क्षेत्र को निशाना बनाए जाने का जिक्र किया है.

उधर, चीनी दूतावास की ओर से सफाई देते हुए इन आरोपों को गैर जिम्मेदाराना बताया गया है और खुद को साइबर अटैक विरोधी बताया है. दूतावास की ओर से कहा गया है कि चीन साइबर सुरक्षा का डिफेंडर है, चीन हर तरह के साइबर अटैक का विरोध करता है. साइबर अटैक के मसले पर अटकलबाजी की कोई भूमिका नहीं है. बिना सबूत के किसी पर आरोप लगाना गैरजिम्मेदाराना है.








Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *