Breaking News

देश में सांप्रदायिक अशांति पैदा करने की साजिश कर रही थी SDPI- एनआईए

बेंगलुरु में हिंसा की घटना बीते 11 अगस्त को हुई थी. (फाइल फोटो) एनआईए के सूत्रों (NIA Sources) के मुताबिक, एजेंसी ने मामले में 247 लोगों को आरोपी बनाया है. आरोप पत्र (Charge Sheet) पर प्रतिक्रिया देते हुए, कर्नाटक के गृह मंत्री बासवराज बोम्मई ने कहा कि यह एसडीपीआई की Continue Reading

कंगना रनौत को हाईकोर्ट से मिली अंतरिम सुरक्षा, सांप्रदायिक ट्वीट के आरोप में हुई थी FIR

कंगना रनौत (Photo Credit- @kanganaranaut/Instagram) कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को सांप्रदायिक ट्वीट (Communal Tweets) आरोप के मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) से राहत मिली है. कोर्ट ने उन्हें अंतरिम सुरक्षा देदी है. News18Hindi Last Updated: November 24, 2020, 4:38 PM IST मुंबई. बॉलीवुड Continue Reading

भाजपा की केन्द्र से हस्तक्षेप की मांग, तृणमूल का घटना को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप

तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी पर लगाया घटना को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप (फाइल फोटो) Malda Blast: मालदा जिले के सुजापुर में गुरुवार, 19 नवंबर को प्लास्टिक की एक फैक्टरी में विस्फोट से छह लोगों की मौत हो गई थी. इस घटना के बाद भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच Continue Reading

मुनव्वर राना पर साधु-संतों ने बोला हमला, कहा- देश के सांप्रदायिक सौहार्द के लिए घातक

स्वामी आनन्द गिरी ने कहा है कि मुनव्वर राणा का ये बयान बेहद शर्मनाक और आपत्तिजनक है. गंगा सेना के संयोजक और निरंजनी अखाड़े के संत स्वामी आनंद गिरी (Anand Giri) ने कहा है कि एक शायर के तौर पर वह मुनव्वर राना (Munawwar Rana) का सम्मान करते थे, लेकिन Continue Reading

UP में जातीय और सांप्रदायिक दंगे भड़काने की साजिश की जांच करेगी STF की स्पेशल यूनिट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo) हाथरस कांड (Hathras Case) के बहाने उत्तर प्रदेश में जातीय और सांप्रदायिक दंगे भड़काने की साजिश का अंदेशा जाहिर किया गया है. अब इस मामले की जांच के लिए यूपी एसटीएफ की स्पेशल यूनिट (UP STF Special Unit) का गठन किया गया है. Continue Reading

क्‍या अब नौकरशाही भी सांप्रदायिक खांचों में बंटेगी? | – News in Hindi

सुशांत-रिया प्रकरण, कोरोना महामारी, चीन के साथ टकराव और अब कृषि सुधार को लेकर आए बिल के समानांतर देश में कुछ ऐसी भी घटनाएं हो रही हैं जिन पर बात भले ही उस गंभीरता से न की जा रही हो, लेकिन वे मामले न सिर्फ गंभीर हैं, बल्कि यदि समय Continue Reading