Breaking News

Surdas Dohe: मैया मोरी मैं नही माखन खायो, पढ़ें सूरदास के दोहे

मैया मोरी मैं नही माखन खायौ ।भोर भयो गैयन के पाछे ,मधुबन मोहि पठायो ।चार पहर बंसीबट भटक्यो , साँझ परे घर आयो ।।मैं बालक बहियन को छोटो ,छीको किहि बिधि पायो ।ग्वाल बाल सब बैर पड़े है ,बरबस मुख लपटायो ।।तू जननी मन की अति भोरी इनके कहें पतिआयो Continue Reading