Breaking News

Formation of new government in afghanistan expected to end four decade long conflict says hurriyat – तालिबान शासन पर हुर्रियत बोली

श्रीनगर. मीरवायज उमर फारूक (Mirwaiz Umar Farooq) की अगुवाई वाले हुर्रियत काफ्रेंस (Hurriyat Conference) के धड़े ने गुरुवार को उम्मीद जतायी कि अफगानिस्तान (Afghanistan) में नई सरकार के गठन से उस देश में चार दशक से चल संघर्ष पर पूर्ण विराम लग जाएगा और अनिश्चितता खत्म हो जाएगी. अमेरिकी सैन्यबलों Continue Reading

हुर्रियत कान्फ्रेंस के कट्टरपंथी धड़े ने जेल में बंद मसरत आलम को अध्यक्ष चुना

श्रीनगर . हुर्रियत कॉन्फ्रेंस (hurriyat conference) के कट्टरपंथी धड़े ने सैयद अली शाह गिलानी का पिछले हफ्ते निधन होने के बाद जेल में बंद नेता मसरत आलम भट को अपना अध्यक्ष चुन लिया है. जम्मू-कश्मीर (jammu kashmir) में वर्ष 2010 में विरोध-प्रदर्शन के दौरान ‘पोस्टर ब्वॉय’ के रूप में पहचाने Continue Reading

भारत को तोड़ने के लिए जिस हु्र्रियत को बनाया उसे बेआबरू होकर छोड़ना पड़ना– News18 Hindi

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में अलगाववाद की सबसे बड़ी आवाज रहे सैयद अली शाह गिलानी का निधन हो गया है. उनका निधन श्रीनगर के हैदरपुरा स्थित अपने आवास में हुआ. 91 वर्षीय गिलानी बीते कई सालों से अपने घर में ही नजरबंद थे. गिलानी वो नेता थे जिन्होंने बीते कई दशकों Continue Reading

हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी का निधन, महबूबा मुफ्ती ने किया ट्वीट

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर गिलानी के निधन पर शोक जताया है. गिलानी श्रीनगर के हैदरपोरा इलाके में रहते थे. वह मूल रूप से सोपोर जिले के रहने वाले थे. उनका जन्म 29 सितंबर 1929 को हुआ था. उन्होंने कॉलेज तक पढ़ाई पाकिस्तान के लाहौर से की थी Continue Reading

UAPA के तहत हुर्रियत कॉन्फ्रेंस दोनों गुटों के पर लग सकता है प्रतिबंध

हुर्रियत के दोनों धड़ों पर गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम की धारा 3 (1) के तहत प्रतिबंध लगने की संभावना है. जम्मू कश्मीर के अधिकारियों ने कहा कि दो दशकों से अलगाववादी आंदोलन की अगुवाई कर रहे अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के दोनों धड़ों पर गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के Continue Reading

हुर्रियत ने कश्मीर पर बातचीत करने की अपील की, फिर से विश्वास बहाल करने के बताए उपाय

नई दिल्‍ली. कश्‍मीर विवाद (Kashmir Dispute) का हल निकालने के लिए भारत, पाकिस्‍तान और जम्‍मू-कश्‍मीर के बीच बातचीत की वकालत करने वाले अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्‍फ्रेंस (Hurriyat Conference) ने भारत सरकार से बातचीत का माहौल बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं. जम्मू और कश्मीर (Jammu and Kashmir) से विशेष Continue Reading